छा गया गुरु, जानिये आखिर क्यों पसंद किये जा रहे हैं गुरु रंधावा के गाने

0
345
छा गया गुरु, जानिये आखिर क्यों पसंद किये जा रहे हैं गुरु रंधावा के गाने

पंजाबी  सिंगर गुरु रंधावा का नाम आज किसी पहचान का मोहताज़ नहीं हैं. यह पहचान उन्होंने अपने बलबूते हासिल की है. अभी हाल ही में उन्होंने किसी इंटरव्यू में कहा था कि एक टाइम ऐसा आया था  जब हमारी पूरी टीम के पास खाने के लिए पैसे नहीं थे. लेकिन आज उनके गानों को लोग पसंद कर रहें हैं. गुरु रंधावा पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री से लेकर बॉलीवुड तक छाये हैं. यहाँ तक कि इनके गानों के बिना आज के टाइम में कोई शादी पार्टी पूरी नहीं मानी जाती है.

गुरु रंधावा के गानों की यूएसपी है उनका जानदार म्यूजिक. यूँ तो पंजाबी गानों को पूरे देश में नाचने और थिरकने के लिये सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है लेकिन गुरु रंधावा की बात कुछ और ही है. संगीत ऐसा की आप खुद को नाचने से नहीं रोक सकते. गुरु रंधावा की जबरदस्त पॉपुलैरिटी के पीछे उनके गानों के बोल भी हैं. तैनू सूट सूट करदा जैसे गाने में वो देसी कपड़ों कि तारीफ करते दिखाई देते हैं तो मेड इन इंडिया लगदी है में विदेसी धरती पर देसी कुड़ी को पटाते दिखाई देते हैं. अपने देश और उसके यूनिक स्टाइल को गानों में लाकर उन्होंने दिलों में जगह बनायी है.

इंग्लिश रैप, ब्रांडेड कपड़ों और लग्जरी कारों के बीच भी गुरु रंधावा एक सक्सेसफुल देसी मुंडे कि छवि को पर्दे पर उतारने में सफ़ल रहे हैं. यही उनके गानों की खासियत है जिसे यूथ पसंद कर रहा है. पिछले साल आए उनके गाने “लगदी लाहौर दियां” में आज्ञाकारी मम्माज़ बॉय का अंदाज़ लोगों को इतना पसंद आया की इस गाने को यूट्यूब पर 460 मिलियन लोगों ने देखा. ये तो नहीं पता चला कि कुड़ी केडे  पिंड दी केडे शेर दी थी लेकिन गुरु रंधावा प्योरली मेड इन इंडिया हैं. लड़के जहाँ उनके हाईरेटेड गबरू वाले स्टाइल को फॉलो करने कि ताक में रहते हैं वहीँ हज़ारों लड़कियाँ उनकी रानी बनना चाहती हैं.

Facebook Comments