जम्मू-कश्मीर: BSF ने दिया ऐसा करारा जवाब की घुटने टेके बोले पाक रेंजर्स, अब नहीं करेंगे एलओसी पर फायरिंग

0
77

रमजान के पवित्र महीने में भारत ने जम्मू-कश्मीर में सभी तरह के सैन्य ऑपरेशन पर रोक लगा रखा  है लेकिन वही भारत का पड़ोसी मुल्क अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा था और वह एलओसी पर लगातार फायरिंग किये जा रहा था लेकिन जब भारत ने इसकी जवाबी कार्यवाही शुरू की तो उससे पाकिस्तानी रेंजर्स ने घुटने टेक लिया था| दरअसल भारत के जवाबी के कार्यवाही के बाद पाकिस्तानी रेंजरों ने हाल ही में फोन करके बीएसएफ से फायरिंग को रोकने की अपील की थी| अब उसने भारत के सामने यह पेशकश कि है की ‘वह 2003 के संघर्ष विराम समझौते को पूरी तरह मानेगा| उसकी तरफ से एलओसी पर कोई फायरिंग नहीं होगी| भारत ने भी उसकी पेशकश को स्वीकार कर लिया है| गौरतलब हैं कि पाकिस्तान के द्वारा यह पेशकश 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पहली बार हुई है| इस बीच भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि ‘सेना हाथ बांधकर नहीं बैठी है|’

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने स्पष्ट किया कि कश्मीर में संघर्ष विराम नहीं बल्कि सस्पेंशन ऑफ ऑपरेशन (कुछ समय के लिए कार्रवाई रोक देना) है| राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि, यह युद्धविराम (सीजफायर) नहीं बल्कि रमजान के महीने को देखते हुए सेना ने ऑपरेशन को रोक दिया था| लेकिन किसी भी आतंकी हमले पर यह ऑपरेशन दोबारा शुरू हो जाएगा| हमने अपने सुरक्षाबलों के हाथ नहीं बांध रखे हैं| सुरक्षाबलों ने अभी कुछ ही दिनों पहले हमला होने पर 5 आतंकियों को मार गिराया था|

आपकी जानकारी के लिए बता दे, कि इससे कुछ दिन पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान  को यह चेतावनी दी थी कि अगर वह अपनी नापाक हरकत से बाज नहीं आएगा तो इसके गंभीर परिणाम उसे भुगतने होंगे| उन्होंने कहा था कि एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से हर रोज सीजफायर का उल्लंघन हो रहा है| ऐसे में किसी मसले भी पर पाकिस्तान बातचीत का सवाल ही नहीं उठता| बता दे, कि पाकिस्तान ने अभी कुछ दिन पहले ही सीजफायर का उल्लंघन किया था| जिस दौरान उसने  कठुआ, सांबा और आरएसपुरा की बस्तियों और चौकियों पर बमबारी और गोलाबारी की थी| जिस वजह तक़रीबन 6 लोगों की जाने चली गई थी|

Facebook Comments