कर्नाटक: सीएम कुमारस्वामी ने हासिल किया विश्वास मत, वही भाजपा ने सदन से किया वॉकआउट, दी बंद की धमकी

0
102

कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन से बने सीएम एचडी कुमारस्वामी ने आज कर्नाटक विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर दिया| जिसमे दोनों पार्टियों के गठबंधन के कुल 117 विधायकों के वोट हासिल हुए लेकिन फ्लोर टेस्टं से पहले ही कर्नाटक विधानसभा की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा ने सदन से वॉकआउट कर दिया। कर्नाटक विधानसभा से बाहर आने के बाद भाजपा नेता और पूर्व सीएम बीएस येद्दयुरप्पा ने कहा कि ‘यदि मुख्यमंत्री कुमारस्वामी किसानों का कर्ज माफ नहीं करते हैं, तो वह 28 मई को राज्य में बंद का अह्वान करेंगे।’ वही कुछ समय पहले एचडी कुमारस्वामी ने सदन को संबोधित करते हुए कहा कि ‘जनादेश भाजपा के लिए नहीं था।

वही भाजपा के उम्मीदवार के अध्यक्ष पद की रेस से हट जाने की वजह से कांग्रेस के रमेश कुमार निर्विरोध विधानसभा के नये अध्यक्ष चुन लिए गए। अध्यक्ष चुने जाने के बाद कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता बीएस येद्दयुरप्पा ने रमेश कुमार से हाथ मिलाकर बधाई भी दिया। गौरतलब हैं कि अध्यक्ष पद की रेस से हटने के फैसले की वजह पर येद्दयुरप्पा ने कहा, ‘हमने अध्यक्ष पद के लिए अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया, क्योंकि हम चाहते थे कि चुनाव अध्यक्ष पद की गरिमा बनाए रखने के लिए सर्वसम्मति से हो।’

आपकी जानकारी के लिए बता दे, कि विधानसभा अधक्ष चुनाव से पहले ये अटकले लगाया जा रहा था कि ये चुनाव कर्नाटक के सियासी ड्रामे में एक और नया बवाल लेकर आएगा, क्योंकि भाजपा ने भी कांग्रेस के खिलाफ अपना उम्मीदवार मैदान में उतार दिया था। लेकिन चुनाव से पहले ही भाजपा ने इस रेस से खुद को अलग करने का निर्णय कर लिया| जिस वजह से कांग्रेस के नेता रमेश कुमार विधानसभा के स्पीकर बन गए। गौरतलब हैं कि रमेश कुमार कर्नाटक विधानसभा के 1994-99 तक पहले भी विधानसभा अध्यक्ष रह चुके हैं। वही इस चुनाव में भाजपा ने अपने वरिष्ठ नेता एस सुरेश कुमार को प्रत्याशी बनाया था जो कि बेंगलुरु से पांचवीं बार विधायक बने हैं।

सुरेश कुमार

 

 

Facebook Comments