मोदी सरकार का किसानों को तोहफा: धान, रागी और कपास समेत कई फसलों पर MSP बढ़ाया…!

0
265

केंद्र की मोदी सरकार ने धान, दाल, मक्का जैसी खऱीफ फसलों के लिए MSP लागत का डेढ़ गुना करने का फैसला लिया है| गौरतलब हैं कि मोदी सरकार ने यह निर्णय ऐसे समय लिया है जब देश के किसान फसलों के उचित दाम मिलने के वजह से परेशान हैं और लोकसभा का चुनाव एक साल के अंदर होने वाला हैं। भाजपा ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में किसानों के साथ ये चुनावी वादा किया था कि वह किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य दिलाएगी। जिसको पूरा करने के लिए भाजपा सरकार ने साल 2018 की 1 फरवरी को पेश किए गए अपने आखिरी पूर्ण बजट में जनता से किए इस वायदे को पूरा करने की घोषणा की थी।

बता दे, कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों से जुड़ी समिति ने आज 14 खरीफ फसलों के एमएसपी (MSP) के प्रस्तावों को स्वीकृत किया। खबरों के मुताबिक, इस बढ़ोतरी के बाद अब सामान्य धान का समर्थन मूल्य 1550 रुपए से बढ़कर 1750 रुपए और ए ग्रेड धान का समर्थन मूल्य 180 रुपए बढ़कर 1770 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है|

क्या होता हैं एमएसपी ?

कृषि लागत और मूल्य आयोग की अनुशंसा पर भारत सरकार किसानों की फसल के लिए एक मूल्य निर्धारित करती हैं| जो एमएसपी होता हैं|

एमएसपी
वाली फसले

इसके तहत कुल 26 फसले आती हैं जैसे- चावल, गेहूं, ज्वार, बाजरा, रागी आदि| जिसमे 7 अनाज, 5 दलहन, 8 तिलहन और अन्य फसल शामिल…  

कितना हुआ MSP?

– मूंग के समर्थन मूल्य में 1400 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है, इस बढ़ोतरी के बाद मूंग का समर्थन मूल्य 5575 रुपए से बढ़कर अब 6975 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है|

-इनके अलावा रागी के समर्थन मूल्य में 997 रुपए, उड़द के समर्थन मूल्य में 200 रुपए और सोयाबीन के समर्थन मूल्य में 349 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है|

– इस बढ़ोतरी के बाद अब रागी का समर्थन मूल्य बढ़कर 2897 रुपए, उड़द का समर्थन मूल्य 5600 रुपए और सोयाबीन का समर्थन मूल्य बढ़कर 3399 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है|

-सबसे ज्यादा रागी की एमएसपी 52.5 फीसदी बढ़ाई गई है|

Facebook Comments