नई दिल्ली : भाजपा सांसद डॉ. हर्षवर्धन बने दिल्ली की रामलीला में जनक

0
75

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री डॉ हर्षवर्धन शुक्रवार को राजधानी दिल्ली की मशहूर लव-कुश रामलीला के मंच पर राजा जनक के किरदार में नजर आए|अपने इस किरदार को लेकर भाजपा नेता डॉक्टर हर्षवर्धन ने ट्वीट भी किया|उन्होने अपने ट्वीट लिखा  ‘शुक्रवार को दिल्ली के लवकुश रामलीला कमेटी में माता सीता के पिता राजा जनक की भूमिका निभाने का सौभाग्य मिला. मेरा बचपन लाल किला और चांदनी चौक की रामलीलाओं को देखते हुए बीता है, लेकिन रामलीला मंचन का यह अनुभव मुझे ताउम्र याद रहने के साथ-साथ हमेशा रोमांचित करेगा|’

राजनीतिक व्यस्तताओं की वजह से हो गया था रामलीला से दूर

रामलीला में किरदार करने को लेकर चांदनी चौक से भाजपा सांसद डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि वह राजनीति में आने से पहले भी रामलीला से जुड़े रहे हैं| हालांकि, अब राजनीतिक व्यस्तता बढ़ने के बाद वह रामलीला के मंच से दूर हो गये है|उन्होंने आगे कहा कि रामलीला में किरदार निभाकर वह अपने ही संसदीय क्षेत्र में रामलीला के मंच से पहली बार अपने समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं से नये अंदाज में मुखातिब हुए|

दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी निभाएंगे अंगद का किरदार

बता दें कि दिल्ली की मशहूर लवकुश रामलीला में रुपहले पर्दे के नामचीन कलाकार रामलीला का मंचन करते रहे है| इनमें अभिनेता से नेता बने पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद मनोज तिवारी पिछले साल की तरह इस साल भी अंगद के किरदार में नजर आएंगे| जबकि शाहबाज खान रावण और बिंदु दारा सिंह हनुमान की भूमिका में इस साल भी रामलीला के मंच पर होंगे| इसके अलावा दमदार आवाज के लिए मशहूर एक्टर रजा मुराद और महाभारत के दुर्योधन यानि पुनीत भी रामलीला के पात्रों को मंच पर जीवंत बनायेंगे|

गौरतलब है कि इनदिनों नवरात्रि का पर्व चल रहा है| यह एक हिंदू पर्व है। इस पर्व का हिन्दू धर्म में एक अलग ही महत्व है| नवरात्रि एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दसवाँ दिन दशहरा के नाम से प्रसिद्ध है। नवरात्रि वर्ष में चार बार आता है। पौष, चैत्र,आषाढ,अश्विन प्रतिपदा से नवमी तक मनाया जाता है। नवरात्रि के नौ रातों में तीन देवियों – महालक्ष्मी, महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा के नौ स्वरुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दुर्गा का मतलब जीवन के दुख कॊ हटानेवाली होता है। नवरात्रि हिंदुओं  का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है| जिसे देशभर  में हर्षोंउल्लाश  के साथ मनाया जाता है।

नौ देवियाँ है :-

शैलपुत्री – इसका अर्थ- पहाड़ों की पुत्री होता है।

ब्रह्मचारिणी – इसका अर्थ- ब्रह्मचारीणी।

चंद्रघंटा – इसका अर्थ- चाँद की तरह चमकने वाली।

कूष्माण्डा – इसका अर्थ- पूरा जगत उनके पैर में है।

स्कंदमाता – इसका अर्थ- कार्तिक स्वामी की माता।

कात्यायनी – इसका अर्थ- कात्यायन आश्रम में जन्मि।

कालरात्रि – इसका अर्थ- काल का नाश करने वली।

महागौरी – इसका अर्थ- सफेद रंग वाली मां।

सिद्धिदात्री – इसका अर्थ- सर्व सिद्धि देने वाली।

Facebook Comments