पीएम मोदी को मिला यूएन(UN) का सबसे बड़ा सम्मान ‘चैंपियंस ऑफ अर्थ’…

0
126

नई दिल्ली: प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को नई दिल्ली के प्रवासी भारतीय केंद्र में एक विशेष समारोह में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटारेस के द्वारा संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार ‘‘चैंपियंस ऑफ अर्थ अवार्ड’’ ग्रहण किया| इससे पहले देश की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने संबोधन में कहा कि आज भारत के लिए बहुत ही गौरव का दिन है, आज संयुक्त राष्ट्र के द्वारा भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को ‘Champions of the Earth’ का अवार्ड दिया गया| इससे पहले अपने संबोधन में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा हम Earth को Planet नहीं मानते है, पृथ्वी हमारे लिए ग्रह नहीं है, पृथ्वी हमारे लिए मां है| भारत में जब भवन बनाए जाते हैं तो भूमि-पूजन किया जाता है|

वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने कहा कि पीएम मोदी ने (पर्यावरण के क्षेत्र में) जिस नेतृत्व का प्रदर्शन किया है, दुनिया में उसकी कमी है| ग्रीन इकोनॉमी का आने वाले दशक में बड़ा योगदान होगा|इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘चैंपियन्स ऑफ द अर्थ’ अवॉर्ड भारत की पुरानी परंपरा का सम्मान है, जिसने प्रकृति में परमात्मा को देखा है, जिसने सृष्टि के मूल में पंचतत्व को देखा और जिसके अधिष्ठान का आह्वान किया| यह भारत के जंगल में बसे उन आदिवासी भाई बहनों का सम्मान है, जो जंगलों से प्यार करते हैं| यह भारत के मछुआरे का सम्मान है, जो समुंदर से उतना ही लेते हैं, जितना जिविकोपार्जन के लिए आवश्यकता होता है|

बता दे, कि पीएम मोदी एवं फ्रांस के राष्ट्रपति एमेनुएल मैक्रों को स्थायी विकास एवं जलवायु बदलाव के क्षेत्र में अनुकरणीय नेतृत्व और सकारात्मक कदम उठाने के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया गया| एक सरकारी बयान के मुताबिक इस पुरस्कार की घोषणा न्यूयार्क में 26 सितंबर को 73वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा से की गई थी| संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटारेस ने पीएम मोदी को यह पुरस्कार प्रदान किया|

प्रधानमंत्री मोदी को अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की पैरवी के लिए अग्रणी कार्यों तथा 2022 तक एकल उपयोग वाली सभी तरह की प्लास्टिक को भारत से हटाने के संकल्प के कारण नेतृत्व श्रेणी में चुना गया है. वार्षिक ‘‘चैम्पियंस आफ अर्थ’’ पुरस्कार सरकार, सिविल सोसाइटी एवं निजी क्षेत्र में ऐसे असाधारण नेताओं को दिया जाता है जिनके कदमों से पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है.

बता दे, कि वार्षिक ‘‘चैम्पियंस आफ अर्थ’’ पुरस्कार के लिए छह चैंपियन छह अलग-अलग वर्गों नीति नेतृत्व, उद्यमी विजन, विज्ञान व नवाचार, प्रेरणा व एक्शन और लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए चुने जाते हैं। प्रधानमंत्री मोदी को भी ये सम्मान फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुएल मैक्रां के साथ मिलकर अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन बनाने, उत्कृष्ट काम करने और पर्यावरण बचाव कार्यों में सहयोग के नए क्षेत्र तलाशने के लिए नीति नेतृत्व वर्ग में दिया गया है।

Facebook Comments