सिद्धू बोले, मोदी-अटल भी गए थे लाहौर, भाजपा ने कहा- जाने से पहले शहीद कौस्तुभ राणे की याद नहीं आई।

0
122

पाकिस्तान से लौटने के दो दिन बाद पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पाक सेना प्रमुख बाजवा से गले मिलने पर प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी सफाई दिया है। सिद्धू की सफाई के बाद भाजपा ने प्रेस कोन्फ्रेंस कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत नवजोत सिंह सिद्धू पर हमला बोला है। दरअसल भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा हैं कि ‘राहुल गांधी के कहने पर सिद्धू ने प्रेस कांफ्रेंस की है। जबकि देश राहुल गांधी से जवाब मांग रहा है। उन्होंने आगे कहा कि ‘राहुल गांधी के बिना कांग्रेस में पत्ता भी नहीं हिलता है।‘

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आगे कहा कि राहुल गांधी कभी भी समानांतर सरकार नहीं चला सकते है। उन्हें इस पूरे मुद्दे पर सफाई देनी चाहिए। उनके राज्य तक के मुख्यमंत्री ने उनके बाजवा से गले मिलने पर गलत ठहराया है। उसके बाद भी उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस की है यह आश्चर्यजनक है। पाक आर्मी चीफ बाजवा से गले मिलकर सिद्धू ने ठीक नहीं किया है।‘

संबित पात्रा ने आगे कहा कि पाकिस्तान के साथ कैसे रिश्ते हो इसका फैसला केंद्र करेगा। उन्होंने कांग्रेस के रवैये की निंदा करते हुए कहा कि पाकिस्तान शांति का दुश्मन है। लेकिन सिद्धू अपने आप को प्रधानमंत्री के बराबर समझ रहे हैं। सिद्धू को जाने से पहले शहीद कौस्तुभ राणे की याद नहीं आई। जिसे पाकिस्तान ने मार दिया। उन्हें सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों के आंसू नहीं दिखाई दिए। उन्होंने आगे कहा कि सिद्धू को जनरल बाजवा पर विश्वास है पर भारत पर नहीं।

गौरतलब हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू पिछले दिनों पूर्व क्रिकेटर इमरान खान के प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान गए हुए थे। उस दौरान उन्होने पाक आर्मी चीफ कमर बाजवा को गले लगा लिया| जिसके बाद देशभर में सिद्धू के द्वारा ऐसा करने को लेकर विरोध हो रहा हैं और उंगलीयां उठ रही हैं|
नवजोत सिंह सिद्धू पूरे मामले में अपना बचाव करते नजर आ रहे हैं लेकिन विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

जिसके बाद नवजोत सिद्धू ने प्रेस कांफ्रेंस करके सफाई दिया है और कहा हैं कि पाक आर्मी चीफ कमर बाजवा ने शांति की बात की थी, इसलिए मैं भावुक हो गया था और इसी भावुकता में मैंने उन्हें गले लगा लिया। कांग्रेस नेता सिद्धू ने आगे कहा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी दोस्ती बस लेकर पाकिस्तान गए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नवाज शरीफ को शपथ ग्रहण समारोह में बुलाया था। इसी तरह मुझे बुलाया गया और मैं गया। इसमें इतना हंगामा करने की क्या बात हो गई, समझ नहीं आया। सिद्धू ने आगे कहा कि ‘मेरे पाकिस्तान जाने को लेकर कई लोगों ने काफी कुछ कहा। यहां तक कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी बोले। भारत देश में लोकतंत्र है। यहां हर किसी को आजादी है, अपनी बात कहने की।‘

इससे पहले पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था कि वह मामले में जवाब देने के लिए तैयार हैं और जब जरूरत होगी, मजबूत जवाब दिया जाएगा।

Facebook Comments