पोर्न फिल्मों की लत हो सकती है खतरनाक : बचने के लिये अपनायें ये टिप्स

0
277
पोर्न फिल्मों की लत हो सकती है खतरनाक : बचने के लिये अपनायें ये टिप्स

आप मानें या ना मानें गन्दी फिल्मों का शौक आपको बहुत भारी पड़ सकता है. यह एक ऐसा नशा है जो आपकी मानसिक स्थिति को तो लाचार बनाता ही है साथ-साथ आपके प्रेम-संबंधो या वैवाहिक जीवन पर भी इसका प्रभाव पड़ता है. कहते हैं हम जो सोचते हैं उसका असर हमारे स्वास्थ्य और व्यक्तित्व पर पड़ता है और यह सच भी है. पोर्न फिल्में व्यावाहरिक जीवन और वास्तविकता से कोसों दूर होती हैं. आप असल जिंदगी में प्रेमपूर्ण रिश्ते को जीना चाहते हैं तो बहुत अधिक पोर्न फिल्में ना देखें. जाने- अनजाने में ये फिल्में आपकी असंतुष्टि की भावना को प्रबल करती हैं. आइये जानते हैं ब्लू फिल्मों की लत से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है –

एकांत में रहना करें खत्म –

पोर्न फिल्म की लत आपको एकांत ढूंडने पर मजबूर करती है ताकि आप अपनी इस आदत को बिना खलल के पोषित कर सकें. अगर आप महीने में दस से ज्यादा पोर्न फिल्में देखते हैं तो अकेले रहना कम कर दें. दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ समय बितायें. रात को परिवार के साथ सोना शुरू करें.

जीवनसाथी की मदद लें –

अपने जीवनसाथी के साथ क्वालिटी टाइम स्पेंड करें. एक बार अपने रिश्ते का विश्लेषण जरुर करें कि कहीं आप अपने साथी से दूर तो नहीं होते जा रहे हैं? एक दूसरे को प्यार दें और अपना खोया हुआ रोमांस जगाने की कोशिश करें. आप अपने साथी के साथ वो लगाव महसूस करें जो आपके और पोर्न के बीच पैदा हो गया है. पार्टनर के साथ रेगुलर सम्बन्ध बनाना भी आपके लिये मददगार होगा. अपनी पार्टनर की सहमति से अपनी इच्छाओं की पूर्ति करें.जो सामने है और जो साथ है असल में वही आपके लिये सर्वोपरि होना चाहिये.

अपनी हॉबी को दें एक और मौका –

याद कीजिये स्कूल के दिनों में आप किस एक्टिविटी में भाग लेते थे. क्या आप अच्छा डांस करते है? क्या आपको कुकिंग , गार्डनिंग, स्पोर्ट्स में से किसी चीज़ का शौक है ? अगर हाँ तो दोबारा अपना वो बचपन और अल्हड़पन लौटा लाइये. अपने शौक को दोबारा पूरा कीजिये. इससे आपके टाइम का सदुपयोग होगा और आपके अन्दर क्रिएटिविटी जन्म लेगी. दोस्तों इस तरह से आप अपनी गन्दी आदत से छुटकारा पा सकते हैं. अगर इसके बाद भी कोई ख़ास असर नहीं दिखाई देता तो किसी अच्छे मनोवैज्ञानिक की मदद लें. इस लत को हल्के में ना लें.

Facebook Comments