सुप्रीम कोर्ट से केजरीवाल सरकार को झटका मिलने के बाद, जानिए किसने क्या ट्वीट किया…!

0
199

दिल्ली की केजरीवाल सरकार और उपराज्यपाल के बीच काफी लंबे समय से चल रही जंग के बीच आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाया है| सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि एलजी प्रशासनिक मुखिया जरुर हैं लेकिन उनके पास ऐसी शक्ति नहीं है कि वो सरकार के काम को बाधित करें| अगर उन्हें किसी बात से आपत्ति है तो वो मामला राष्ट्रपति के पास भेज सकते हैं| सु्प्रीम कोर्ट ने ये भी कहा है कि हर मामले में एलजी की सहमति लेना अनिवार्य नहीं है उन्हें कैबिनेट की बातें माननी होगीं| इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने यह भी साफ कर दिया है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना मुमकिन नहीं है|

गौरतलब हैं कि दिल्ली का बॉस कौन होगा इस पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ जाने के बाद से दिल्ली की आप सरकार इसे अपने लिए बड़ी जीत मान रही है। तो वहीं विपक्ष इसे केजरीवाल सरकार की करारी हार मान रहा है। इस फैसले के आने के बाद से पक्ष-विपक्ष सभी की प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं। इस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर इसे लोकतंत्र की बड़ी जीत बताया है। उन्होंने लिखा- दिल्ली की जनता की बड़ी जीत…लोकतंत्र की भी बड़ी जीत’

तो वहीं आम आदमी पार्टी के बागी नेता कपिल मिश्रा ने भी इस फैसले के बाद ट्वीट किया हैं-

तो वही इस मामले पर दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित कही हैं कि ‘मुझे लगता है कि सुप्रीम कोर्ट ने जो कहा है वह स्पष्ट है। संविधान के अनुच्छेद 239 (एए) के अनुसार, दिल्ली एक राज्य नहीं है, यह एक केंद्रशासित राज्य है। अगर दिल्ली सरकार और एलजी एक साथ काम नहीं करते हैं तो दिल्ली को समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। कांग्रेस ने 15 साल तक दिल्ली पर शासन किया, तब कोई संघर्ष नहीं हुआ|’

वहीं आप सरकार में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने इसे लैंडमार्क डिसिजन करार दिया है। मनीष सिसोदिया ने कहा हैं कि ‘यह सुप्रीम कोर्ट का एक ऐतिहासिक फैसला है। अब दिल्ली सरकार को उसकी फाइलें एलजी के पास सहमति के लिए नहीं भेजनी होंगी, अब काम भी नहीं रुकेगा। मैं सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करता हूं। यह लोकतंत्र की बड़ी जीत है।‘

Facebook Comments