सतलोक आश्रम: हिसार अदालत का बड़ा फैसला, हत्या के दोनों मामले में संत रामपाल दोषी करार, 16-17 अक्तूबर को सुनाई जाएगी सजा

0
60

सतलोक आश्रम प्रकरण से जुड़े हत्या और षड्यंत्र के मामले में ‘संत’ रामपाल समेत सभी 30 आरोपियों को आज कोर्ट के द्वारा दोषी करार दे दिया गया है। हालांकि कोर्ट ने अभीतक उनके सजा पर अपना फैसला फिलहाल सुरक्षित रखा है। खबरों के मुताबिक इनको सजा अब 16 और 17 अक्तूबर को सुनाई जाएगी। बता दे कि हिसार की सेंट्रल जेल में लगी अदालत में न्यायाधीश डीआर चालिया ने यह सुनवाई की।…

आपको बता दें कि नवंबर 2014 में सतलोक आश्रम में हुए विवाद में पांच महिलाओं समेत एक बच्चे की मौत हो गई थी। कार्यवाही करते हुए पुलिस ने सतलोक आश्रम संचालक रामपाल सहित 30 लोगों पर 302, 343 और 120बी के तहत केस दर्ज किया था। तब से लेकर अब तक इस मामले पर सुनवाई का दौर जारी है और संत रामपाल भी जेल में ही कैद हैं।

वहीं, आज अदालत के फैसले के मद्देनजर हिसार में धारा-144 लगाई गई। रेलवे स्टेशन-बस स्टैंड पर ट्रेनों और बसों में यात्रियों की चेकिंग की गई। कानून व्यवस्था बनाए रखने और रामपाल समर्थकों को हिसार आने से रोकने के लिए हिसार आने वाली 15 ट्रेनों को रद्द कर दी गई। कई जिलों की पुलिस फोर्स को तैनात किया गया। दूसरे जिलों से आने वाले रास्तों पर नाकेबंदी की गई। शहर की सुरक्षा के लिए 2000 के करीब पुलिस कर्मचारियों को तैनात किया गया। शहर के अंदर भीड़भाड़ वाली जगहों पर पुलिस तैनात की गई। जेल-1 और जेल-2 के बाहर, कोर्ट परिसर, रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा कड़ी की गई थी।

गौरतलब है कि संत रामपाल को सजा सुनाए जाने के चलते प्रशासन ने किसी भी तरह की अशांति पूर्ण घटना होने पर उससे निपटने के लिए नागरिक अस्पताल में अलर्ट भेजा। अस्पताल प्रशासन को अलर्ट पर रहने को कहा गया। सामान्य मरीजों को छुट्टी देकर घर भेज दिया गया। सीएमओ डॉ. दयानंद ने बताया कि किसी भी तरह की आपातकालीन स्थिति के लिए स्टॉफ को आवश्यक दिशा निर्देश दे दिए गए है।

Facebook Comments